LOC – LAC और अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर क्या है इसका मतलब International Border – Line of Control – Line of actual Control

LOC - LAC और अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर क्या है इसका मतलब International Border - Line of Control - Line of actual Control

LOC, LAC और अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर क्या है इसका मतलब  International Border – Line of Control – Line of actual Control

  1. अंतराष्ट्रीय सीमा या इंटरनेशनल बॉर्डर International Border (आईबी)

इंटरनेशनल बॉर्डर उस लाइन को कहा है जाता है जो दोनों को अलग करती है और जिसे दुनिया ने स्वीकृति दी है। आईबी रेडक्लिफ लाइन पर स्थित है और यह भारत को पाकिस्तान के चार प्रांतों से अलग करता है। बॉर्डर_जिन_चार_प्रांतों से भारत-पाक अलग हैं वह हैं  कश्मीर, वाघा, पाकिस्तान का पंजाब और भारत का पंजाब।
एक_जीरो_प्वाइंट भी है जो भारत के गुजरात और राजस्थान और पाकिस्तान के सिंध को अलग करता है। दोनों देशों के बीच 2,900 किमी का बॉर्डर है और इसे दुनिया सबसे ज्यादा संघर्ष वाली सीमा मानती है। भारत, पाक के अलावा म्यांमार, बांग्लादेश और भूटान के साथ भी इंटरनेशनल बॉर्डर साझा करता है।

2. एलओसी यानी लाइन ऑफ कंट्रोल (Line of Control)

एलओसी यानी लाइन ऑफ कंट्रोल वह लाइन है जिसे अंतराष्ट्रीय समुदाय नहीं मानता है लेकिन दोनों देश इसे स्वीकारते हैं। दोनों देशों के बीच संघर्ष के बाद एलओसी को शुरू किया गया। वर्ष 1947 में दोनों देशों के विभाजन के बाद लगातार सीजफायर हुआ और फिर एलओसी अस्तित्व में आई। इस वर्ष पाक सेना की ओर से समर्थित आतंकी कश्मीर घाटी में दाखिल हुए और इन्हें इंडियन आर्मी ने खदेड़ा।

इसके बाद 1948 में एलओसी यानी एक लाइन ऑफ कंट्रोल को शुरू किया गया। वर्ष 1971 में दोनों देशों के बीच जंग हुई और फिर 1972 में भारत और पाक के बीच शिमला समझौता हुआ। इस समझौते में ही दोनों देशों ने एलओसी को औपचारिक तौर पर स्वीकार किया। एलओसी कोई भी आधिकारिक सीमा नहीं है लेकिन सैन्य नियंत्रण वाला वह हिस्सा होता है जो विवादित हिस्सों से दूर रहता है।

3. LAC (लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल या वास्तविक नियंत्रण रेखा) Line of actual control

नियंत्रण रेखा से अलग, वास्तविक नियंत्रण रेखा भारत और चीन के बीच की वास्तविक सीमा रेखा है। 4,057 किलोमीटर लंबी यह सीमा रेखा जम्मू-कश्मीर में भारत अधिकृत क्षेत्र और चीन अधिकृत क्षेत्र अक्साई चीन को पृथक करती है।

यह लद्दाख, कश्मीर, उत्तराखंड, हिमाचल, सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश से होकर गुजरती है। यह भी एक प्रकार की सीज फायर (युद्धविराम) रेखा ही है क्योंकि 1962 के भारत-चीन युद्घ के बाद दोनों देशों की सेनाएं जहां तैनात थी, उसे वास्तविक नियंत्रण रेखा मान लिया गया।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *